Republic day Kyu Manaya jata Hai । गणतंत्र दिवस 26 जनवरी को ही क्यों मनाया जाता है?

Republic day Kyu Manaya Jata Hai Hindi Mein

Tag:

Republic day history in hindi, republic day in hindi, republic day in hindi 10 lines 2022, republic day kyu manate h in hindi, republic day kyu manaya jata hai hindi mein, Republic day 2022, Republic day Speech 2023, Republic day Kyu Manaya jata Hai

Republic day Kyu Manaya jata Hai: नमस्कार फ़्रेंड्स क्या आप जानते है Republic day Kyu Manaya Jata Hai, Republic day 2022, 26 January को ही क्यो मनाया जाता है?

आप बोलेगे इसमे कौन-सी नई बात है यह तो हम सभी को पता है कि इस दिन हमारे प्यारे भारत देश का Constitution (संविधान) January 26, 1950 को लागू किया था। लेकिन फ़्रेंड्स इतना जान लेना काफी नहीं है।

Republic day Kyu Manaya Jata Hai 2022 इसकी पूरी जानकारी हम इस पोस्ट में जानेगे इसको आप पूरा पढ़िये और जानिए Republic day Kyu Manaya Jata Hai.

तो चलिये फ़्रेंड्स मैं आपको 26 January के बारे में संपूर्ण जानकारी इस पोस्ट के माध्यम से देने जा रहा हूं अगर friends इस पोस्ट से आपको कुछ सीखने को मिले।

तो अपने फ़्रेंड्स के साथ जरूर Share करें। जिससे 26 January (Indian Republic day) के बारे में अधिक से अधिक दोस्तों को इसकी जानकारी प्राप्त हो। [Republic day Kyu Manaya jata Hai]

ProgramRepublic day
Date & Month26 January
Host CountryIndia
In Honor ofभारत का संविधान
January 26, 1950
को लागू हुआ
HomeClick Here
Republic day Kyu Manaya jata Hai

Republic day Kyu Manaya Jata Hai in Hindi

Introduction

26 January (Indian Republic day) हमारे प्यारे देश के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण दिनों एक दिन है। क्योकि इस दिन हमारे देश का Constitution (संविधान) January 26, 1950 को लागू हुआ था।

गणतंत्र दिवस हर साल January 26 को पूरे भारत में एक साथ मनाया जाता है। इस दिन की सबसे अच्छी बात यह है कि सभी जाति एवं धर्म के लोग गणतंत्र को एक साथ मिलकर मनाते हैं।

Republic (गणतंत्र) का मतलब है की भारत देश में सभी देशवासियों के लिए एक समान व्यवस्था और कानून स्थापित करना, हमारे देश में सभी धर्मों (All Castes) को संप्रदायों को एक समान अधिकार और स्थान दिया गया है।

or Republic (गणतंत्र) का अर्थ भारत की जनता द्वारा चुना हुआ शासन जिसका राष्ट्रीय अध्यक्ष जनता के द्वारा चुना गया हो Republic (गणतंत्र) का अर्थ होता है


This Year हमारे भारत देश का 73वां Republic day (गणतंत्र दिवस) मनाया जा रहा है। January 26, 1950 को न सिर्फ देश का संविधान लागू हुआ था बल्कि देश के पहले राष्ट्रपति डॉ राजेंद्र प्रसाद जी ने शपथ ग्रहण की थी।

इसलिए 26 जनवरी का दिन बेहद ऐतिहासिक दिनों [Historical Days] में से एक दिन है। Republic day  [गणतंत्र दिवस] के कार्यक्रम Morning 8:00 am बजे से शुरू हो जाता हैं

सबसे पहले देश के Prime Minister [प्रधानमंत्री] इंडिया गेट अमर जवान ज्योति पर जाकर शहीद जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित करते हैं साथ ही शहीद जवानों को पुष्प चक्र अर्पित किया जाता है

उसके बाद दिल्ली के राजपथ पर पूरा Program आयोजित होता है Republic day का पूरा Program लगभग 2-3 घंटे तक चलता है। हर वर्ष Republic day [गणतंत्र दिवस] को शानदार तरीके से पूरे देश में मनाया जाता है

Republic day के इतिहास पर नजर डाली जाए तो 1950 की सुबह 10:48 पर हमारा संविधान लागू हुआ था। गणतंत्र दिवस [Republic day] के राष्ट्रीय पर्व जगह जगह पर कार्यक्रम आयोजित भी होते हैं

लेकिन देश की राजधानी में इसे भव्य रुप से मनाया जाता है President House [राष्ट्रपति भवन] से लेकर India Gate राजपथ पर भव्य Program आयोजित किए जाते हैं।

National Flag [राष्ट्रीय ध्वज] फहराने से लेकर तीनों सेनाओं [Indian Airforce, Indian Navy, Indian Army] के द्वारा 26 जनवरी को भव्य प्रदर्शन किया जाता है इसके अलावा तीनों सेनाओं की परेड निकलती है

परेड में विभिन्न विद्यालयों के बच्चे एनसीसी कैंडिडेट पुलिस अर्धसैनिक और सेना के जवान भाग लेते हैं परेड को देखने के लिए नेतागण राजदूत और आम जनता बड़ी संख्या में आती है।

परेड के बाद विभिन्न प्रकार की झांकियों का दृश्य सामने से गुजरता है एक से बढ़कर एक सजी-धजी झांकियां प्रत्येक राज्यों से आती हैं। किसी-किसी झांकीयों में महात्मा बुध की शांत मुद्रा में, तो किसी-किसी में महाराणा प्रताप अपने  घोड़े चेतक पर नजर आते हैं!

तो किसी-किसी में रणचंडी बनी लक्ष्मीबाई, तो किसी-किसी में नृत्य गान-गाती महिलाएं चलती हैं। तो कुछ झांकियां देशभक्ति गानों पर स्कूली बच्चे डांस परफॉर्मेंस देते नजर आते हैं। यह सभी चीजें Republic Day के कार्यक्रम को और भी सुंदर बनाती हैं।


Chief Guest


हमारे प्यारे भारत देश की एक परंपरा बहुत ही लोकप्रिय है। देश के 26 जनवरी के पावन अवसर पर किसी भी देश के चीफ गेस्ट (As a Chief Guest) को आमंत्रित किया जाता है।

जिससे हमारे भारत देश की एक नई पहचान पूरे विश्व बनी रहे। इस Year कोरोना के चलते हमारे रिपब्लिक डे के पावन अवसर पर किसी भी Chief Guest को आमंत्रित नहीं किया गया है   

[History] Republic day Kyu Manaya Jata Hai

Republic day Kyu Manaya jata Hai in hindi
Republic day Kyu Manaya jata Hai

History: Year 1929 के December में लाहौर में इंडियन नेशनल कांग्रेस (भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस) का अधिवेशन पंडित जवाहरलाल नेहरु की अध्यक्षता में हुआ जिसमें प्रस्ताव पारित कर इस बात की घोषणा की गई।

अगर अंग्रेज सरकार January 26, 1930 तक भारत को डोमिनियन नियम का पद नहीं प्रदान करेगी। जिसके तहत इंडिया ब्रिटिश साम्राज्य में स्वशासित इकाई बन जाता, तो भारत अपने आप को पूर्ण स्वतंत्र घोषित कर दी।

January 26, 1930 तक जब अंग्रेज सरकार ने कुछ नहीं किया। जिसके तुरंत बाद Congress ने उस दिन भारत की पूर्ण स्वतंत्रता के निश्चय की घोषणा की तथा अपना सक्रिय आंदोलन आरंभ किया।


उसी दिन से 1947 में स्वतंत्रता प्राप्त होने तक 26 जनवरी Independence day के रूप में मनाया जाता है इसके पश्चात Independence प्राप्ति के वास्तविक दिन 15 August को Bharat को Independence day के रूप में स्वीकार किया गया।

Bharat के आजाद हो जाने के बाद संविधान सभा की घोषणा हुई और इसने अपना कार्य 9 दिसंबर 1947 से आरंभ कर दिया संविधान सभा के सदस्य Bharat के राज्यों की निर्वाचित सदस्यों के द्वारा चुने गए थे।

डॉक्टर भीमराव अंबेडकर, जवाहरलाल नेहरू, डॉ राजेंद्र प्रसाद ,सरदार बल्लभ भाई पटेल और  मौलाना अबुल कलाम आजाद इस सभा के प्रमुख सदस्य थे।

संविधान (Constitution) निर्माण में कुल 22 समितियां थी जिसमें प्रारूप समिति ड्राफ्टिंग कमेटी सबसे प्रमुख एवं महत्वपूर्ण समिति थी। और इस समिति का कार्य संपूर्ण संविधान लिखना या निर्माण करना था। प्रारूप समिति के अध्यक्ष Dr. B. R. Ambedkar थे।

 डॉ बी.आर. अंबेडकर की अध्यक्षता में Indian Constitution [भारतीय संविधान] के प्रारुप को सदन में रखा गया। 2 Years 11 Months and 18 Days में संविधान बनकर तैयार हुआ।

आखिरकार इंतजार की घड़ी 26 जनवरी 1950 को इसको लागू होने के साथ ही खत्म हुई। साथ ही पूर्णं स्वराज की प्रतिज्ञा का भी सम्मान हुआ।


Constituent Assembly (संविधान सभा) ने संविधान निर्माण के समय कुल 114 दिन बैठक की इसकी बैठकों में प्रेस और जनता को भाग लेने की स्वतंत्रता थी।

अनेक सुधारों और बदलावों के बाद सभा के 308 सदस्यों ने January 24, 1950 को संविधान की दो हस्तलिखित कापियां पर हस्ताक्षर किए इसके 2 दिन बाद संविधान 26 जनवरी को यह देश भर में लागू हो गया।

इसलिए  26 January का महत्व बनाए रखने के लिए हर साल इसी दिन Constitution Assembly द्वारा संविधान में भारत के गणतंत्र दिवस को मान्यता प्रदान की गई। 1950 में  भारत एक लोकतांत्रिक गणराज्य घोषित हुआ और भारत का संविधान लागू हुआ।


हम आशा करते है यह पोस्ट आपको अच्छी लगी होगीकी Republic day Kyu Manaya Jata Hai आपसे निवेदन है इसे अपने सभी प्यारे दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूले थैंक यू!

Leave a Comment