BHMS Full Form in Hindi – बीएचएमएस की फुल फॉर्म क्या होती है

BHMS Full Form in Hindi

BHMS full form in Hindi: हम सभी हमेशा कई शब्दो का उपयोग करते है लेकिन उन शब्दो का सही मतलब नहीं पता होता है इन मे से एक शब्द BHMS है जिसका उपयोग तो सभी लोग करते है लेकिन BHMS क्या होता है BHMS Full Form in Hindi क्या है? इन सबकी जानकारी बहुत ही कम लोगो को होती है।

यहाँ पर BHMS के बारे मे पूरी जानकारी देने जा रहे है। यह एक तरह की होम्योपैथिक मेडिसिन डिग्री होती है, इस कोर्स को करने के बाद आप एक बहुत बड़े होम्योपैथिक डॉक्टर बन सकते है क्योंकि BHMS कोर्स बेस्ट करियर लाइन होती है। BHMS कोर्स करने के लिए आज कल बहुत से लोग सोचते है

क्योंकि आज कल की जो भी अंग्रेजी दवाईयों के उपयोग से बहुत से लोगो को नुकसान हो रहा है उनको अंग्रेजी दवाइयाँ फायदा करने के बजाय लोगो के शरीर मे साइड इफ़ेक्ट कर रही है जिस कारण से लोग Homeopathic medicine का उपयोग ज्यादा करते है इसी कारण से  BHMS course करना अधिक पसंद करते है। (BHMS Full Form in Hindi)

यह भी जाने   Affiliate Marketing kya hai Hindi Mai Click Here

BHMS Course Eligibility

BHMS Course Eligibility : यदि आप BHMS कोर्स मे अपना करियर बनाना चाहते है,तो सबसे पहले आप 10th और 12th बोर्ड एग्जाम मे अच्छे मार्क्स होने चाहिये तभी आप BHMS के लिए आवेदन कर सकते है। 12th करने के बाद भी BHMS कोर्स कर सकते है लेकिन 12th मे बायोलॉजी , फिजिक्स, केमिस्ट्री, हिंदी, इंग्लिश आदि विषयो मे कम से कम 60%-70% होने चाहिए तभी आप BHMS कोर्स मे एडमिशन मिल सकता है।

BHMS Course Age Limit

BHMS कोर्स के लिए आवेदन करने वाले उमीदवारो की न्यूनतम आयु सीमा 17 वर्ष से 25 वर्ष तक होनी चाहिए तभी आप BHMS का एग्जाम दे पायेगे तथा BHMS मे अपना करियर बना पायेगे।

BHMS कोर्स कितने वर्ष होता है

BHMS course लगभग साढ़े 5 वर्ष का कोर्स होता है जिस मे से 4.5 वर्ष की कॉलेज होती है जिसमे से बच्चो को कॉलेजो मे होम्योपैथिक मेडिसिन के बारे मे पढ़ाया जाता है ताकि बच्चे आगे होम्योपैथिक की लाइन पर जाये तो उनको हर एक मेडिसिन के बारे अच्छी जानकारी हो।

क्योंकि एक साल की इंटर्नशिप दी जाती है, यदि आप को होम्योपैथिक के विषय पर अच्छा नॉलेज है तो आप आसानी से इंटर्नशिप मे पास हो जाते है तथा जॉब आसानी से मिल सकती है।

BHMS full form in Hindi

1. BHMS Full Form in English: Bachelor of Homeopathic Medicine and surgery.

2. BHMS full form in hindi: बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी होता है।

BHMS Full Form in Hindi BHMS कोर्स का फुल फॉर्म Bachelor of Homeopathic Medicine and Surgery होता है। BHMS एक स्नातक डिग्री होती है, यह बहुत ही अच्छा कोर्स होता है, कई स्टूडेंट अपने करियर मे डॉक्टर बनाना चाहते है तो उसके लिए BHMS कोर्स उनके लिए बहुत ही अच्छा ऑप्शन होता है। क्योंकि आज कल हर एक स्टूडेंट की चाहता है कि वह इंजीनियर, होम्योपैथिक चिकित्सा के क्षेत्र में अपना करियर बनाना ज्यादा पसंद करते है।

BHMS कोर्स की Fees

BHMS Course Fee – BHMS कोर्स करने के लिए आप गवर्नमेंट कॉलेज से BHMS कोर्स करते है तो साल भर की फीस 50 हज़ार से लेकर 60 हज़ार रूपये लगती है। वही आप प्राइवेट कॉलेज से BHMS करते है तो 1 लाख से लेकर 2 लाख तक लग जाते है।

BHMS Course Syllabus

BHMS Course Syllabus – BHMS course 4.5 साल का होता है। इसमें से पहले साल, दूसरे साल, तीसरे साल और चौथे साल BHMS कोर्स जुडी जानकारी दी जाती है और 1.5 साल जो बचता है तो जिसमे से आप किसी हॉस्पिटल ज्वाइन करके इंटर्नशिप दे सकते है।

BHMS Full Form in Hindi
Source Pixabay: BHMS Full Form in Hindi

यहाँ पर हम BHMS को syllabus के बारे मे कुछ जानकारी देने जा रहे है।

1st Year BHMS Course syllabus

ज़ब हम BHMS मे एडमिशन लेते है तो first year मे पढ़ाये जाने वाले syllabus कुछ होते है। जैसे, होम्योपैथिक सिद्धांत के विषय मे, दर्शन और मानोविज्ञान चिकित्सा के बारे मे,एनाटॉमी हिस्टोलोजी,बायोकेमिस्ट्री, होम्योपैथिक फार्मेसी, होम्योपैथिक मटेरिया मेडिका आदि विषय होते है इनके बारे मे BHMS कोर्स के fast year मे पूरी जानकारी अच्छे तरीके से दी जाती है।

2nd Year BHMS Course Syllabus

BHMS कोर्स के सेकंड ईयर मे पढ़ाया जाना वाला सिलेबस जैसे- विष विज्ञान, फॉरेसिक मेडिसिन के विषय मे, पैथोलाँजी, माइक्रोबायोलॉजी, होम्योपैथिक मटेरिया मेडिका, प्रसूति तथा स्त्री रोग विशेषज्ञ के बारे मे देखभाल करना, आँख,कान, नाक, होम्योपैथिक चिकित्सा एंड सर्जरी सहित आदि सभी के बारे मे जानकारी दी जाती है।

Third-year BHMS Course Syllabus

Third year BHMS कोर्स मे पढ़ाया जाने वाला syllabus के बारे मे जानते है जैसे -दांत, आंख चिकित्सा और सर्जरी से संबंधित, चिकित्सा के अंगों के बारे मे,चिकित्सा तथा होमियों चिकित्सायी के संबंधित अभ्यास करवाना, होम्योपैथिक मटेरिया मेडिका आदि विषयो मे बच्चो को जानकारी दी जाती है ताकि आगे चलकर एक अच्छे होम्योपैथिक चिकित्सक बने।

Forth BHMS Course Syllabus

BHMS कोर्स के forth syllabus मे पढ़ाया जाने वाला कोर्स जैसे -होम्योपैथिक मटेरिया मेडिसिन,प्रदर्शनों की सूची बनाकर, चिकित्सा मे अंगों के बारे मे ,समुदायिक चिकित्सा के आदि के विषयो मे जानकारी दी जाती है।

यह भी जाने

BHMS Entrance Exam

BHMS कोर्स मे प्रवेश लेने हेतु हर एक यूनिवर्सिटी मे कराये जाने वाले entrance exam इस तरह के होते है

1. NEET-

National Eligibility Entrance Test : NEET एक नेशनल एलिजिबिलिटी Entrance Exam होता है। इस एग्जाम को राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित की जाने वाली परीक्षाये होती है। NEET एग्जाम ऑफलाइन होता हैं NEET एग्जाम को क्लियर करने के बाद आप BVP CET एग्जाम की तैयारी कर सकते है।

2. BVP CET

BVP CET यूनिवर्सिटी के माध्यम से आर्गेनाइज कराई जाने वाले एग्जाम होते है। जो भारतीय विद्यापीठ यूनिवर्सिटी के माध्यम से संचलित करवाए जाते हैं,यह यूनिवर्सिटी पूना (महाराष्ट्र ) मे है।

3. EAMCET

यह exam state level पर जो लोग इंजीनियरिंग, एग्रीकल्चर कोर्स,मे प्रवेश के करते है उनके लिए आर्गेनाइज करवाई जाती हैं। यह exam online होता है।

तीनो लेवल entrance exam क्लियर करने के बाद ही आपको BHMS की डिग्री मिलती है। जिससे आप कही पर भी होम्योपैथिक चिकित्सा की नौकरी आसानी से कर सकते है।

BHMS Career Options

BHMS Career Options BHMS करने के बाद आप प्राइवेट और सरकारी दोनों तरह की जॉब कर सकते है। यदि आप ने BHMS की डिग्री हासिल कर लिए है तो आप कोई भी हॉस्पिटल तथा क्लिनिक मे जॉब ढूंढ़ रहे है तो आपको जॉब नहीं मिल रही है तो आप अपना खुद का प्राइवेट या सरकारी होम्योपैथिक क्लिनिक खोल सकते है।

क्योंकि ज्यादातर लोग BHMS की डिग्री पाने के बाद अपना खुद का क्लिनक खोलना बेहतर समझते है क्योंकि आज के समय मे जॉब मिलना थोड़ा मुश्किल होता है ऐसे मे लोग अपना ख़ुद का क्लिनिक खोलना ज्यादा पसंद करते है।

BHMS मे सैलेरी पैकेज

BHMS कोर्स करने के बाद आपको बहुत सी सरकारी हॉस्पिटल मे होम्योपैथिक चिकित्सा की नौकरी मिल जाती है और सरकारी होम्योपैथिक चिकित्सा की महीने की सैलेरी अच्छी खासी ₹60,000 तक होती हैं। वही यदि आप प्राइवेट हॉस्पिटल या क्लिनिक मे होम्योपैथिक चिकित्सा की नौकरी करते है तो आपको महीने मे ₹12,000 से ₹15,000 तक ही सैलेरी मिलती हैं।

Conclusion

BHMS Full Form in Hindi – यदि अपने BHMS डिग्री हासिल कर लिए है तो आपको कही पर भी होम्योपैथिक के क्षेत्र में आसानी से नौकरी मिल जाती हैं। BHMS डिग्री हासिल करने के बाद आप अपने नाम के आगे डॉक्टर शब्द जोड़ सकते है, क्योंकि यह ऐसी डिग्री है जिसको प्राप्त हो गई उसकी किस्मत चमक जाती है क्योंकि वह आसानी से अपना खुद का क्लिनिक खोल सकता है।

Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x