15 August Kyo Manaya Jata Hai Hindi | Independence Day 2022

15 अगस्त क्यों मनाया जाता है | Independence Day 2022 | 15 August Kyo Manaya Jata Hai hindi 2022 | 15 August Kyo Manaya Jata Hai hindi | history | 15 August Kyo Manaya Jata Hai hindi | hinstory

15 August Kyo Manaya Jata Hai Hindi: हम सभी भारतवासी हर वर्ष 15 अगस्त के दिन स्वतंत्रता दिवस के रूप में आज़ादी का उत्सव मनाते हैं। लेकिन इस बार का यह उत्सव बहुत खास है क्योंकि इस बार हम आजादी का 75 वां उत्सव मनाने वाले हैं।

भारत सरकार ने इसे आजादी के 75 में अमृत महोत्सव के रूप में मनाने की तैयारियां शुरू कर दी हैं और भारत के हर घर में तिरंगा अभियान भी चला दिया है जिसमें भारत के हर घर में शान से तिरंगा लहराया जाएगा।

यह भी पढ़े < Raksha Bandhan kyo Manaya Jata Hai | रक्षाबंधन क्यों मनाया जाता है

भारत की आज़ादी का संघर्ष | History

भारत ने आजादी ब्रिटिश सरकार से छीनी थी ब्रिटिश ने भारत पर 200 वर्षों तक राज किया था। आजादी की पहली लड़ाई सन 1857 में लड़ी गई थी जिसके बाद लगातार आजादी का संघर्ष जारी रहा। इस लड़ाई में भारत माता के कई वीर और वीरांगनाओं ने हिस्सा लिया और आजादी की लड़ाई में अपने प्राण न्योछावर कर दिए और इतिहास के पन्नों में अमर हो गए।

भारत की आजादी के छोटे-मोटे संघर्ष बहुत पहले ही शुरू हो गए थे लेकिन वे सीमित होते थे। इसलिए उनका व्यापक असर नहीं होता था। आज़ादी का संघर्ष धीरे-धीरे एक आंदोलन बन गया और भारत के सभी लोगों ने आजादी की लड़ाई में हिस्सा लिया और आंदोलन किए। और आखिरकार अंग्रेजों को भारत छोड़कर जाना ही पड़ा।

अंग्रेजों का भारत छोड़कर जाने का मुख्य कारण सुभाष चंद्र बोस और महात्मा गांधी द्वारा चलाए गए आंदोलन थे, क्योंकि उनके आंदोलनों से पूरा भारत एक हो गया था। सभी भारत वासी मिलकर अंग्रेजो के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे थे। साल 1945 में दूसरा विश्व युद्ध खत्म होने के बाद ब्रिटिश सरकार दिवालिया होने की कगार पर आ गई थी और वह और अधिक संघर्ष नहीं कर सकती थी।

भारत को आजादी मिलने से पहले मंगल पांडे, रानी लक्ष्मीबाई, भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद और बहुत से वीर और वीरांगनाओं ने अपने प्राणों की आहुतियां दी थी। ब्रिटिश शासन से भारत को आजाद कराने के लिए सुभाष चंद्र बोस ने आजाद हिंद फौज का गठन किया था। कहा जाता है कि अगर हवाई दुर्घटना में उनकी मृत्यु नहीं हुई होती तो वह भारत को ब्रिटिश सरकार से बहुत समय पहले आजादी दिला देते।

15 August Kyo Manaya Jata Hai Hindi | Independence Day 2022

15 August Kyo Manaya Jata Hai   Independence Day 2022
15 August Kyo Manaya Jata Hai

15 अगस्त को ही क्यों मनाया जाता है स्वतंत्रता दिवस

15 August Kyo Manaya Jata Hai Hindi: अभी हम सभी भारतवासी 15 अगस्त के दिन को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाते हैं, लेकिन वर्ष 1929 में लाहौर में हुए भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस अधिवेशन में भारत के पूर्ण स्वराज की घोषणा हुई और 26 जनवरी को भारत की स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाने का निर्णय हुआ।

जिसके बाद 1930 से लेकर 1947 तक 26 जनवरी को स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता था। भारत में उस समय लॉर्ड माउंटबेटन शासन करते थे, उन्होंने ही 15 अगस्त (15 August) को भारत की स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया था। कहा जाता है कि वह इस दिन को बहुत अच्छा मानते थे।  

इसी दिन द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान जापान में ब्रिटिश सेना के सामने घुटने टेके थे।  शुरुआत में ब्रिटिश शासन ने सन 1948 के जून महीने में भारत को सत्ता हस्तांतरित करने का प्रस्ताव दिया था लेकिन भारत में बढ़ते सांप्रदायिक दंगों और बंटवारे को लेकर हो रहे विवाद को देखते हुए 1 वर्ष पहले 1947 को सत्ता भारत को सौंपी और वह देश छोड़कर चले गए। पंडित जवाहरलाल नेहरू आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री के रूप में चुने गए थे। उन्होंने लाल किले पर खड़े होकर तिरंगा झंडा फहरा कर आजादी का जश्न मनाया था।

आजादी के बाद भारत के हालात

15 August Kyo Manaya Jata Hai Hindi: आज़ादी के समय भारत के हालात कुछ खास अच्छे नहीं थे क्योंकि भारत के दो टुकड़े हो गए थे और पाकिस्तान का जन्म हुआ जिसके बाद संघर्ष और बढ़  गया। पाकिस्तान ने कश्मीर के लिए भारत पर बार बार हमले किए और चीन ने भी भारत पर हमला कर दिया।

इन सभी हालातों से उभरते हुए भारत ने तरक्की की ओर अपने कदम बढ़ाते हुए नई ऊंचाइयों को छुआ। भारत आज विज्ञान और प्रौद्योगिकी में बहुत आगे है। भारत आज उन चुनिंदा देशों की सूची में आता है जो चांद और मंगल पर सैटेलाइट भेज कर रिसर्च कर रहा है।

ब्रिटिश सरकार में भले ही भारत पर 200 वर्षों तक शासन किया हो लेकिन आजादी मिलने के बाद भारत की सैन्य शक्ति लगातार मजबूत होती गई है।

आजादी के बाद से लेकर अब तक भारत की सैन्य शक्ति विश्व की चौथी सबसे बड़ी और मजबूत आर्मी बन कर उभरी है। वहीं ब्रिटिश आर्मी विश्व के पांचवे नंबर पर आती है भारत से सिर्फ अमेरिका, रूस और चीन की सैन्य शक्ति के मामले में आगे हैं।

15 अगस्त के दिन (Independence Day) भारत के सभी स्कूलों, संस्थानों में झंडा वंदन किया जाता है और आजादी की खुशी में मिठाईयां बांटी जाती हैं। भारतवासी आजादी के अमूल्य महत्व को धीरे-धीरे भूलते जा रहे हैं। वे फिर से राजनीतिक पार्टियों के मानसिक गुलाम हो रहे हैं क्योंकि राजनीतिक पार्टियों के समर्थन में वह भूल जाते हैं कि सही और गलत क्या है।

यह भी पढे

Leave a Comment